15 अगस्त 2010

भगत सिंह, अच्छा हुआ तुम न रहे

बना रहे बनारस की तरफ से स्वतन्त्रता दिवस की हार्दिक बधाई.  इस अवसर पर बाबा नागार्जुन द्वारा लिखी गई  कविता

गुजर गये तुम्हारी शहादत के
वर्ष पचास
मगर बहुजन समाज की
अब तक पूरी हुई न आस 

तुमने किनका भला चाहा था
तुमने किनका संग निबाहा था
क्या वे यही लोग थे
गद्दार, जनद्वेशी   , अहसान फरामोश?
हकूमत की पीनक में बदहोश?

भगत सिंह,
तुम्हारे वे कामरेड क्या लुच्चे थे, लवार थे?
इन्हीं की तरह क्या वे
आम पब्लिक की गर्दन पर सवार थे?
अपनी कुर्सी बचाने की खातिर 

अपनी जान माल की हिफाजत में
क्या तुम्हारे कामरेड
इन्हीं की तरह
कातिलों से समझौता करते?
क्या वे इन्हीं की तरह
अपना थूक चाट-चाटकर मरते?

हमने तुम्हारी वर्षगांठ को भी
धन्धा बना लिया है, भगत सिंह
हमने तुम्हारी प्रतिमा को भी
कुर्बानी का प्रमाण पत्र थामे रहने के लिए
भली-भांति मना लिया है। 

भगत सिंह, दरअसल, हम बड़े पाजी हैं
तुम्हारी यादों के एक-एक निशान
हम तानाशाहों के हाथ बेचने को राजी हैं
दस पांच ही बुजुर्ग शेष बचे हैं
वे तुम्हारे नाम की कीर्तन करते हुए
यहां वहां दिखाई दे जाते हैं

वे उनके साथ शहीद स्मारक
समारोहों में अलग-बगल मंचस्थ
होते हैं उन्हीं के साथ
जिनकी जेलों के अंदर हजार-हजार
तरूण विप्लवी नरक यातना भोग रहे हैं
और वे उनके साथ भी
शहीद-स्मारक-समारोहों में अलग-बगल
मंचस्थ होते हैं

जिनकी फैक्टरियों के अंदर-बाहर
श्रमिकों का निरंतर वध होता है
भगत सिंह, क्या वे सचमुच तुम्हारे
                    साथी थे?

नहीं-नहीं, प्यारे भगत सिंह, यह झूठ है!
ऐसा हो नहीं सकता
कि तुम्हारा कोई साथी इन
मिनिस्टरों से, इन धनकुबेरों से हाथ मिलाये!

दरअसल वे कोई और लोग हैं
उनकी जर्जर काया के अंदर
निष्चय ही देशद्रोही-जनद्रोही
दुष्टात्मा प्रवेश कर गई है

भगत सिंह, अच्छा हुआ तुम न रहे!
अच्छा हुआ, फांसी के फंदे पर झूल गये तुम
ठीक वतन पर शहीद हो गये,
अच्छा किया तुमने


     -नागार्जुन 

6 टिप्‍पणियां:

  1. इस सवाल का कोई जबाब भी है क्या?

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  2. स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं .
    अपनी पोस्ट के प्रति मेरे भावों का समन्वय
    कल (16/8/2010) के चर्चा मंच पर देखियेगा
    और अपने विचारों से चर्चामंच पर आकर
    अवगत कराइयेगा।
    http://charchamanch.blogspot.com

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  3. वंदना जी चर्चा मंच पर चर्चा का इंतज़ार है...

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  4. स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं!

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं